कंप्यूटर और लैपटॉप में कौन बेहतर है?

कंप्यूटर और लैपटॉप में कौन बेहतर है?

अगर एक कंप्यूटर यूजर है तो अपने लैपटॉप कभी इस्तेमाल जरूर किया होगा ऐसे में सवाल उठता है कि कंप्यूटर और लैपटॉप में बेहतर कौन है वैसे तो अपनी-अपने काम और स्पेसिफिकेशन के हिसाब से दोनों ही सही है पर इस पोस्ट में यह जानने की कोशिश करेंगे कि आखिर इन दोनों में क्या डिफरेंस है और बेहतर कौन है और बेहतर कौन है
कंप्यूटर और लैपटॉप दोनों के अपने-अपने फायदे और नुकसान हैं। यह निर्भर करता है कि आपके लिए क्या महत्वपूर्ण है।

कंप्यूटर के फायदे

  • कंप्यूटर आमतौर पर लैपटॉप से सस्ते होते हैं। कंप्यूटर पीसी लैपटॉप का मुकाबला सस्ते होते हैं क्योंकि इसमें अलग-अलग कॉम्पोनेंट्स को मिलाकर इसे असेंबल्ड किया जा सकता है
  • कंप्यूटर में लैपटॉप की तुलना में अधिक शक्तिशाली हार्डवेयर होते हैं। जाहिर सी बात है कंप्यूटर में हार्डवेयर के साइज बड़े होने के कारण यह मजबूत होते हैं जबकि लैपटॉप में बहुत ही छोटे-छोटे कॉम्पोनेंट्स का इस्तेमाल किया जाता है जिस वजह से लैपटॉप का साइज और वजन दोनों ही छोटा हो जाता है पर काम और परफॉर्मेंस में दोनों ही से होते हैं
  • कंप्यूटर को आसानी से अपग्रेड किया जा सकता है। यदि कंप्यूटर में कोई खराबी हो तो उसे आसानी से ठीक किया जा सकता है यानी कि कॉम्पोनेंट्स के खराब होने की वजह से उन कॉम्पोनेंट्स को आसानी से चेंज किया जा सकता है जबकि लैपटॉप में थोड़ा टाइम लगता है और बहुत सावधानी से चेंज करना पड़ता है।
  • कंप्यूटर में लैपटॉप की तुलना में अधिक स्क्रीन स्पेस होता है। यदि आप कंप्यूटर पर मॉनिटर का इस्तेमाल करके काम करते हैं तो आपको स्क्रीन काफी लंबी चौड़ी यूज करने को मिल जाती है ऐसे में अगर लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं तो आपको स्क्रीन एक लिमिटेड साइज की ही मिलती है।

कंप्यूटर के नुकसान

  • कंप्यूटर लैपटॉप की तुलना में अधिक भारी और ले जाने में मुश्किल होते हैं। कंप्यूटर के कॉम्पोनेंट्स बड़े होने के कारण यह कंप्यूटर सिस्टम को काफी भारी कर देता है
  • कंप्यूटर को लैपटॉप की तुलना में अधिक जगह की आवश्यकता होती है। लैपटॉप को आप कहीं भी ले जाकर आसानी से कम कर सकते हैं पर कंप्यूटर में एक सिक्स जगह और काफी ज्यादा स्पेस की जरूरत पड़ती है।
  • कंप्यूटर को लैपटॉप की तुलना में अक्सर चालू और बंद करना पड़ता है। लैपटॉप को यदि आप सिर्फ मोड में डाल दें तो उसे दूसरी बार बड़ी आसानी से चालू कर सकते हैं जबकि कंप्यूटर में भी स्लीप मॉड का ऑप्शन होता है पर उसे बार-बार रीस्टार्ट या बंद चालू करना पड़ सकता है।

मोबाइल फ़ोन को वायरस से सुरक्षित कैसे रखें

लैपटॉप के फायदे

  • लैपटॉप कंप्यूटर की तुलना में अधिक पोर्टेबल होते हैं। लैपटॉप को आप आसानी से कहीं भी ले जा सकते हैं और चुकी लैपटॉप फोल्डेबल होता है इसलिए रखने में भी इसमें दिक्कत नहीं होती है
  • लैपटॉप को कहीं भी ले जाया जा सकता है। चाहे ट्रैवल के दौरान हो या ऑफिस या घर कहीं भी आप आते जाते वक्त लैपटॉप को आसानी से अपने साथ ले जा सकते हैं
  • लैपटॉप को चालू करने और बंद करने में कम समय लगता है। कंप्यूटर के मुकाबले लैपटॉप आसानी से बंद या चालू किया जा सकता है क्योंकि इसमें बंद या चालू होने के प्रक्रिया कंप्यूटर के मुकाबले में थोड़ा फास्ट होता है

लैपटॉप के नुकसान

  • लैपटॉप आमतौर पर कंप्यूटर से महंगे होते हैं। हालांकि लैपटॉप कंप्यूटर के मुकाबले थोड़ा महंगे होते हैं
  • लैपटॉप में कंप्यूटर की तुलना में कम शक्तिशाली हार्डवेयर होते हैं। लैपटॉप में बहुत छोटे-छोटे कॉम्पोनेंट्स लगे होने के कारण  इनका हार्डवेयर ज्यादा पावरफुल नहीं होता है
  • लैपटॉप को आसानी से अपग्रेड नहीं किया जा सकता है। कंप्यूटर के मुकाबले लैपटॉप को आसानी से अपग्रेड नहीं किया जा सकता इसमें काफी टाइम और कॉम्पोनेंट्स की आवश्यकता होती है
  • लैपटॉप में कंप्यूटर की तुलना में कम स्क्रीन स्पेस होता है। कंप्यूटर स्क्रीन मॉनिटर बड़ी होती है पर लैपटॉप का स्क्रीन छोटा होता है।

कौन सा बेहतर है?

यदि आपको एक ऐसा कंप्यूटर चाहिए जो शक्तिशाली हो, अपग्रेड किया जा सके, और सस्ता हो, तो एक कंप्यूटर एक अच्छा विकल्प है। यदि आपको एक ऐसा कंप्यूटर चाहिए जो पोर्टेबल हो, कहीं भी ले जाया जा सके, और जल्दी चालू और बंद किया जा सके, तो एक लैपटॉप एक अच्छा विकल्प है।
अंततः, यह आप पर निर्भर करता है कि आपके लिए क्या महत्वपूर्ण है। अपनी आवश्यकताओं और बजट को ध्यान में रखते हुए, आप तय कर सकते हैं कि आपके लिए कौन सा कंप्यूटर बेहतर है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने जाना कि कंप्यूटर और लैपटॉप में बेहतर कौन होता है वैसे तो अपने काम और स्पेसिफिकेशन की वजह से दोनों ही बेहतर है पर मेरी राय में परफॉर्मेंस की दृष्टि से कंप्यूटर सही होता है और पोर्टेबिलिटी की दृष्टि से लैपटॉप सही होता है अब यह आप पर डिपेंड करता है कि आपकी ज़रूरतें कैसी है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *