Cpu Ka Temperature Kaise Check Kare

Cpu Ka Temperature Kaise Check Kare

आप कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं या लैपटॉप को इस्तेमाल करते हैं तो कभी ना कभी आपको सीपीयू यानी कि (central processing unit) सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट की Temperature चेक करने की आवश्यकता जरूर पड़ती होगी अब ऐसे में सवाल उठता है कि Cpu Ka Temperature Kaise Check Kare इस पोस्ट के माध्यम से हम जानेंगे कि आप अपने कंप्यूटर या लैपटॉप के सीपीयू का टेंपरेचर कैसे चेक कर सकते हैं। किसी सीपीयू का टेंपरेचर चेक करने के कौन-कौन से तरीके हैं चलिए इस पोस्ट में जानते हैं

Cpu Ka Temperature Kaise Check Kare

CPU ka temperature check करने के कई तरीके हैं पर सबसे पहले और मुख्य तरीके के बारे में चर्चा करते हैं अगर आप अपने सीपीयू का टेंपरेचर चेक करना चाहते हैं तो सबसे पहले एक स्टेप्स को फॉलो करें।

किसी भी कंप्यूटर लैपटॉप में Windows का built-in feature use कर सकते हैं या फिर किसी थर्ड पार्टी सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर सकते हैं

Windows ka built-in feature use karke

विंडो के बेल्ट इन फ्यूचर का इस्तेमाल करने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें

  • विंडो 10 और विंडो 11 में सीपीयू का टेंपरेचर चेक करने के लिए आप सिंपली टास्क मैनेजर का इस्तेमाल कर सकते हैं
    विंडो टास्क मैनेजर ओपन करने के लिए आप अपने कीबोर्ड से सिंपली Ctrl+Shift+Esc बटन प्रेस करें इससे आपका विंडो टास्क मैनेजर खुल जाएगा।
  • टास्क मैनेजर खुलने के बाद आप Performance tab पर क्लिक करें इसके बाद सीपीयू टेंपरेचर ऑप्शन पर क्लिक करें यहां पर आपको सीपीयू यूसेज के नीचे सीपीयू टेंपरेचर का ऑप्शन देखने को मिल जाएगा जिससे आप अपना सीपीयू का टेंपरेचर बड़ी आसानी से देख सकते हैं।
  • यहां पर सीपीयू का एवरेज टेंपरेचर आपको दिखाई देगा सीपीयू का एक्चुअल टेंपरेचर चेक करने के लिए आपको इंडिविजुअल cores का टेंपरेचर चेक करना होगा
  • Individual cores का टेंपरेचर चेक करने के लिए आपको टास्क मैनेजर में “CPU Usage” के नीचे राइट क्लिक करना होगा और “Show all logical processors” ऑप्शन को सेलेक्ट करना होगा
  • इसके बाद आपको हर core का टेंपरेचर दिखाएं आप अपने सीपीयू के टेंपरेचर की जानकारी बढ़िया आसानी से ले सकते हैं।

Thirrd-party software use karke

सीपीयू का टेंपरेचर जाने के लिए दूसरा तरीका है कि किसी थर्ड पार्टी सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके आप सीपीयू का टेंपरेचर और बहुत सारी डिटेल चेक कर सकते हैं।

थर्ड पार्टी सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके सीपीयू का टेंपरेचर चेक करने के लिए यह कुछ पॉपुलर थर्ड पार्टी सॉफ्टवेयर की लिस्ट है जिनके जरिए आप सीपीयू का टेंपरेचर के बारे में जान सकते हैं

यह सभी सॉफ्टवेयर फ्री और paid दोनों वर्जन में अवेलेबल है यह आप पर निर्भर करता है कि आप फ्री वर्जन का इस्तेमाल करके सीपीयू का टेंपरेचर जानना चाहते हैं या फिर paid वर्जन का इस्तेमाल करके सीपीयू का टेंपरेचर जानना चाहते हैं फ्री वर्जन में कई बार ऐसा होता है कि बहुत सी फैसिलिटी आपको कम नजर आती है पूरी जानकारी नहीं मिलती पर अगर आप पैड वर्जन का इस्तेमाल करते हैं तो आपको पूरी डिटेल जानकारी मिल जाती है।

CPU ka safe temperature Kitna hota hai

सीपीयू का सिर्फ टेंपरेचर प्रोसेसर की कंपनी और मॉडल पर डिपेंड करता है लेकिन जनरल रूप से सीपीयू का सेफ टेंपरेचर 60 डिग्री सेल्सियस तक होता है। यदि आपको सीपीयू का टेंपरेचर 80 डिग्री सेल्सियस से ऊपर हो जाता है तो आप किसी भी एक डैमेज होने का खतरा बढ़ जाता है इसलिए एक सुरक्षित सीपीयू टेंपरेचर 60 डिग्री से ऊपर नहीं होना चाहिए।

CPU ka temperature kam karne ke liye kya kare

सीपीयू का टेंपरेचर कम करने के लिए आप इन टिप्स को फॉलो कर सकते हैं और अपनी सीपीयू का टेंपरेचर मेंटेन रख सकते हैं

Computer ko clean rakhein

सबसे पहले आपको अपने कंप्यूटर को हमेशा क्लीन रखना होगा यानी कि टेंपरेरी फाइल जितनी भी कंप्यूटर है लैपटॉप में इकट्ठी होती रहती है उन्हें समय-समय पर क्लीन करते रहना चाहिए हस्त तौर पर अपने डिस को जरूर क्लीन करना चाहिए जिससे आपका सीपीयू का टेंपरेचर मेंटेन रहेगा।

Computer ko proper ventilation mein rakhein

कंप्यूटर या लैपटॉप को प्रॉपर वेंटिलेशन में रखें यानी की प्रोसेसर की चलने के बाद सीपीयू में हिट पैदा होता है इस हिट को मेंटेन करने के लिए किसी ठंडा जगह का उपयोग करना आपके लिए लाभकारी होगा हालांकि सीपीयू में सीपीयू फैन होता है पर कई बार सीपीयू फैन उतनी और कैपेसिटी से काम नहीं कर पाता और सीपीयू का टेंपरेचर बढ़ जाता है इसलिए लैपटॉप कूलिंग पद या सीपीयू टेंपरेचर के लिए कूलिंग पद का इस्तेमाल करना आपके लिए लाभदायक हो सकता है।

Computer ko overheat hone se rokne ke liye software use karein

कंप्यूटर को ओवरहीट होने से बचने के लिए ऐसे सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करें जिनमें कम प्रोसेसर का इस्तेमाल होता हो या अननेसेसरी सॉफ्टवेयर ओवरहीटिंग ना पैदा करता हूं हालांकि अपने जरूर के हिसाब से ओरिजिनल सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करें कई बार किसी थर्ड पार्टी वेबसाइट से कोई भी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल कर लेते हैं जिसमें मालवीय वायरस भी होता है जिस वजह से किसी भी का टेंपरेचर बहुत तेजी से बढ़ जाता है इस चीज से बचने के लिए कंप्यूटर में किसी ट्रस्टेड सॉफ्टवेयर को ही इंस्टॉल करें।

अगर आपको सीपीयू ओवरहीट हो रहा है तो आपको कंप्यूटर की कूलिंग सिस्टम चेक करने की जरूरत है कूलिंग सिस्टम चेक करने पर भी आप सीपीयू का टेंपरेचर मेंटेन कर सकते हैं।

निष्कर्ष

उम्मीद है इस पोस्ट के बारे में अपने जाना होगा कि किसी सीपीयू का टेंपरेचर कैसे चेक करते हैं और उसे टेंपरेचर को कैसे मेंटेन करते हैं एक नॉर्मल सीपीयू में कितना टेंपरेचर होना चाहिए और यदि किसी सीपीयू का टेंपरेचर बहुत अधिक बढ़ जाए तो क्या क्या सावधानी बरतनी चाहिए।

Read more:-

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *