Salami Attack In Hindi

What is Salami Attack In Hindi | Salami Attack क्या है पूरी जानकारी।

साइबर अटैक की दुनिया में वैसे तो कई तरह के अटैक होते हैं पर एक नए तरह का अटैक शामिल हुआ है ऐसे में अगर सर्च कर रहे हैं की what is salami attack in hindi तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पर है इस पोस्ट के माध्यम से आपको सलामी अटैक के बारे में बताएंगे वह भी पूरे विस्तार से तो चलिए जानते हैं कि साइबर अटैक में salami attack क्या होता है?

What Is Salami Attack In Hindi

Salami attack साइबर अटैक की दुनिया में एक नया शब्द है दरअसल यह एक फाइनेंशियल fraud technique है जिसमें छोटे-छोटे अमाउंट को चोरी से निकाला जाता है जिससे की ओवरऑल लॉस को छुपाया जा सके यानी कि छोटे-छोटे अमाउंट में लॉस होता है जिसे विक्टिम समझ नहीं पता इसमें चोरी इतनी छोटी होती है कि विक्टिम को पता नहीं चलता लेकिन जब सभी छोटे अमाउंट को जोड़ दिया जाता है तो टोटल लॉस बहुत ज्यादा होता है

Salami attack के कुछ उदाहरण

  • इसमें एक हैकर एक बैंक के सिस्टम में एक बग का फायदा उठाकर ग्राहक के खातों से हर महीने 100 रुपये चुराता है। जाहिर सी बात है अगर किसी के अकाउंट में लाखों रुपए हैं तो ₹100 के डिडक्शन होने पर आमतौर पर कोई ध्यान नहीं दे पता है किसी का फायदा है कर उठते हैं
  • इसमें एक हैकर एक कंपनी के डेटाबेस में एक सुरक्षा खामी यानी की सिक्योरिटी में कमी को ढूंढ कर फायदा उठाकर ग्राहक की जानकारी चुराता है, जैसे कि नाम, ईमेल पता और जन्मदिन और भी ऐसे कई प्राइवेट इनफॉरमेशन जिसकी मदद से वह कस्टमर से छोटे-छोटे अमाउंट में फ्रॉड करता है और यह कई लंबे समय तक चलता रहता है।
  • एक हैकर एक स्कूल के सिस्टम में एक बग का फायदा उठाकर स्टुडेंट की ग्रेड चुराता है। आमतौर पर इसका इस्तेमाल ज्यादा नहीं होता है पर देखा जाए तो यह भी एक तरह का साइबर अटैक ही है।

Salami attack कितने प्रकार के होते हैं

सलामी अटैक दो प्रकार के होते हैं जो इस प्रकार है :-

Vertical Salami Attack

इसमें एक व्यक्ति अपने करंट पोजीशन या रोल के अंदर छोटे-छोटे ट्रांजैक्शन को manipulate करता है जिससे की ओवरऑल फाइनेंशियल लॉस हो ।

इस प्रकार के हमले में, हैकर किसी ऑनलाइन डेटाबेस से कस्टमर की जानकारी, जैसे बैंक/क्रेडिट कार्ड डीटेल और अन्य समान प्रकार की जानकारी प्राप्त करता है।

हैकर प्रत्येक खाते से बहुत थोड़ी ammount काट देता है और ये ammounts एक ammount में जुड़ जाती हैं। यह ammount अक्सर चुराना hiden हो सकता है क्योंकि राशि बहुत छोटी होती है। थोड़ी राशि के कारण अधिकांश लोग कटौती की रिपोर्ट नहीं करते हैं। उदाहरण के लिए, मान लीजिए कि हमलावर प्रत्येक चेकिंग खाते से ₹0.0001 निकालता है। जाहिर सी बात है अब इतनी छोटी राशि काटने पर कोई भी कस्टमर या ज्यादातर लोग कभी ध्यान नहीं देते हैं।

Horizontal Salami Attack

इस प्रकार के Salami Attack में एक व्यक्ति अपने लेवल या पोजीशन को चेंज करके छोटे ट्रांजैक्शन को मैनिपुलेट करता है जैसे कि डिपार्टमेंट चेंज करके या किसी और तरह से रोल बदल कर।

इस प्रकार के हमले में, हमलावर किसी system के ऑपरेशन को disrupt करने के लिए एक छोटी सी राशि चुराता है। उदाहरण के लिए, एक हमलावर किसी कंपनी की बिजली की आपूर्ति को disrupt करने के लिए बिजली बिलों से कुछ पैसे चुरा सकता है।
इन अटैक्स में हर छोटी छोरी विक्टिम के द्वारा इग्नोर की जाती है लेकिन जब यह सभी को जोड़ दी जाए तो टोटल लॉस बहुत ज्यादा होता है

Salami Attackers पर कौन सी धारा लगती है

सलामी अटैक का उपयोग वित्तीय अपराधों के लिए किया जाता है। इन हमलों के लिए दोषी पाए जाने वाले लोग आईटी अधिनियम की धारा 66 के तहत दंड का सामना करते हैं।

Salami Attack से बचने के उपाय

Salami Attack से बचने के लिए क्या-क्या उपाय किए जा सकते हैं चलिए इसके बारे में जानते हैं।

  • सुनामी अटैक से बचने के लिए आप अपने अकाउंट को रेगुलर बेस पर चेक कर सकते हैं यानी कि अपने अकाउंट को नियमित रूप से जांच करें कि आपके अकाउंट में कितना पैसा है और यदि कोई पैसा कटता है तो उसकी गंभीरता से जांच करें कि वह पैसा किस वजह से काटा है क्या वह कटौती का कारण सही है या आपकी जानकारी से बाहर है ।
  • अपने अकाउंट में एक स्ट्रांग पासवर्ड का इस्तेमाल करें हम में से ज्यादातर लोग इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं क्योंकि जब से इंटरनेट का इस्तेमाल होना जोरों शोरों से चालू हुआ है सभी लोग बल्कि ज्यादातर इंटरनेट का इस्तेमाल करते हुए ऑनलाइन सर्विसेज का इस्तेमाल करते हैं जैसे कि नेट बैंकिंग, यूपीआई के द्वारा पेमेंट करना आदि इसलिए आपको अपने पासवर्ड पर विशेष ध्यान रखना बहुत आवश्यक है अपने पासवर्ड को बनाते समय कम से कम 12 डिजिट का पासवर्ड रखें जिसमें नंबर लेटेस्ट और कुछ सिंबल्स भी शामिल करें।
  • टू स्टेप वेरीफिकेशन का उपयोग करें यानी कि जब भी आप लॉगिन करें अपने अकाउंट में तब आपको OTP के द्वारा वेरीफाई किया जाना आवश्यक हो इसे ही टू स्टेप वेरीफिकेशन कहा जाता है ऐसा करने से आपका अकाउंट और भी ज्यादा सिक्योर हो जाएगा जिससे Salami Attackers आपके अकाउंट पर अटैक नहीं कर पाएंगे।
  • जब भी ऑनलाइन कोई खरीदी करें किसी भी इकोमर्स साइट पर अपनी एक्टिविटीज पर हमेशा ध्यान रखें कि आप क्या चीज खरीद रहे हैं और कितने में खरीद रहे हैं उसका अमाउंट आवश्यक रूप से जरूर चेक करें कि उसका टोटल अमाउंट कितना है और आपके अकाउंट से कितना डिडक्ट किया गया है।
  • अपनी पर्सनल डिटेल कभी भी किसी के साथ शेयर ना करें और ना ही किसी अनजाने लिंक पर क्लिक करें तभी भी अपना ओटीपी या अपना पर्सनल डिटेल किसी के मांगे जाने पर बिना अच्छी तरह जांच किया उसे कभी भी ना दें।
  • Salami Attacks एक बहुत ही गंभीर साइबर अटैक है इन अटैक्स के बारे में जागरूक रहना ही सुरक्षा का सबसे बड़ा उपाय है।

अंतिम शब्द

इस पोस्ट के माध्यम से हमने जाना की Salami Attack क्या होता है और कितने प्रकार के होते हैं और अगर यदि कोई यह अटैक करता है तो उस पर कौन सी धारा लगती है इसके बारे में हमने पूरे डिटेल से जाना है उम्मीद है यह पोस्ट आपको पसंद आया होगा पोस्ट पढ़ने के लिए धन्यवाद।

इन्हें भी पढ़ें:-

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *